Image result for manmohan modi

सांकेतिक तस्वीर

मनमोहन और नरेन्द्र दोनों विश्व के शीर्ष अर्थशास्त्रीय संस्थान में प्रोफ़ेसर हैं! दोनों की सालाना कमाई 10-10 करोड़ रुपये है। दोनों का सालाना ख़र्च भी एक बराबर यानी 5-5 करोड़ रुपये है। लेकिन मनमोहन ईमानदारी से आयकर देते हैं, जबकि नरेन्द्र टैक्स की चोरी करते हुए कोई टैक्स नहीं भरते!

पाँच साल की नौकरी के बाद मनमोहन और नरेन्द्र दोनों ने कमाये 50-50 करोड़ रुपये। दोनों ने ख़र्च किये 25-25 करोड़ रुपये। इस दौरान मनमोहन ने @30% आयकर के रूप में 15 करोड़ रुपये का टैक्स भरा। जबकि नरेन्द्र ने अपनी सारी रक़म दबा रखी क्योंकि उन्होंने कोई टैक्स नहीं भरा!

पाँच साल बाद मनमोहन के पास हैं 10 (50-25-15) करोड़ रुपये जबकि नरेन्द्र के पास थे (50-25=25) 25 करोड़ रुपये! लेकिन अब नरेन्द्र में राष्ट्र प्रेम जाग गया है! वो स्वेच्छा से नवीनतम आय घोषित योजना का फ़ायदा उठाते हुए अपने 25 करोड़ का 50% यानी 12.5 करोड़ रुपये टैक्स भरने जा रहे हैं। इसके बाद टैक्स चुराने वाले नरेन्द्र के पास बचेंगे 12.5 करोड़ रुपये जबकि ईमानदार मनमोहन के पास बचेंगे 10 करोड़ रुपये!

अब आप ही तय कीजिए कि सालाना 30% टैक्स भरने वाले मनमोहन फ़ायदे में रहे या क्रान्तिकारी योजना की बदौलत मलाई काटने वाले नरेन्द्र! ज़रा सोचिए कि होशियार कौन है: 10 करोड़ रुपये बचाने वाला मनमोहन या 12.5 करोड़ रुपये बचाने वाला नरेन्द्र…! अब तो आप समझ गये होंगे कि काला धन पकड़ने के नाम पर किसे ख़ुशहाल बनाने की मुहिम चल रही है, मनमोहनों को या नरेन्द्रों को…!!!